शत्रुओं को अपने जीवन से दूर करने के

जैसे – जैसे आप सफलता की ऊँचाइयों को छुते जाते हैं वैसे – वैसे आपके आस – पास आपसे इर्ष्या करने वाले शत्रु इक्कठे हो जाते हैं। ऐसा कोई व्यक्ति नहीं चाहता कि उनके जीवन में कोई शत्रु हो, लेकिन आपकी सफलता को देखकर आपका विरोध करने के लिए कोई न कोई आपका शत्रु बन ही जाता हैं। ये शत्रु

Read more