प्रेम विवाह में सफलता पाएं इस प्रयोग से

प्रेम विवाह में सफलता पाएं इस प्रयोग से, “अगर आप किसी से प्रेम करते हैं और उससे प्रेम विवाह करना चाहते हैं तो भगवान विष्णु और लक्ष्मी की मूर्ति या तस्वीर के सम्मुख,शुक्ल पक्ष में गुरूवार से शुरू करें. लक्ष्मीनारायण नम: मंत्र का रोज तीन माला जाप, स्फटिक माला या लक्ष्मी वरवरद माला से करें. तीन महीने तक हर गुरूवार मंदिर में प्रसाद चढ़ाएं और विवाह हो जाने की प्रार्थना करें. मनोवंछित फल प्राप्त होगा

  • हर बुधवार को गणेश भगवान की पूजा करें, सिंदूर, रोरी चढ़ाएं… दीपक और अगरबत्ती दिखाएँ. दूब घास, और पीले रंग के लड्डू जरुर चढ़ाएं. उस दिन नमक न खाएं. ध्यान रखें यह पूजा शुक्ल पक्ष से शुरू करें.
  • एक गमले में पीपल का छोटा सा पौधा लगाएँ. पीपल के पौधे को हर दिन पानी दें और अगरबत्ती दिखाएँ. यह काम भी शुक्ल पक्ष में शुरू करें
  • इत्र एक सौन्दर्य प्रसाधन तो है ही साथ ही इसका वशीकरण में भी बड़ा महत्व है. इसका प्रयोग बहुत ही प्राचीन समय से किया जा रहा है. इत्र से वशीकरण भी किया जा सकता है. इत्र सामान्यत: तीन तरह का होता है – सौम्य इत्र, सुगंधित इत्र और मादक इत्र. मादक इत्र का प्रयोग काम वासना उत्पन्न करने लिए लिए किया जाता है. सौम्य इत्र मंदिरों और पूजा स्थल पर उपयोग किया जाता है. इसके अतिरिक्त सुगंधित इत्र सामान्य सौन्दर्य के लिए उपयोग किया जाता है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *